22

January 2019
फीचर्स न्यूज़

‘अंदर की आवाज’ की आवाज करती है खतरों से आगाह

March 28, 2018 11:05 AM

-वैज्ञानिक अध्ययन में भी साबित हो चुकी है यह बात
वाशिंगटन। कहते हैं कि कभी ‘अंदर की आवाज’ यानि आत्मा की आवाज और अंग्रेजी में ‘गट फीलिंग’ को कभी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। अब यह बात एक वैज्ञानिक अध्ययन में भी साबित हो चुकी है। यह स्वाभाविक एहसास होते हैं, जो अधिकांश मामलों में सही होते हैं। इनका हमारे मूड और फैसलों पर काफी गहरा प्रभाव होता है। नए अध्ययन में साबित हुआ है कि यह संकेत हमें खतरनाक परिस्थितियों से बचाते हैं। फ्लोरिडा स्टेट यूनिवर्सिटी में हुए शोध में विशेषज्ञों ने बताया कि गट फीलिंग हमारे शरीर के बचाव तंत्र का हिस्सा है। यह किसी भी परिस्थिति में हमें धैर्य रखने और उसका मूल्यांकन करने के लिए प्रेरित करती है। न्यूरोसाइंटिस्ट और प्रमुख शोधकर्ता डॉक्टर लिंडा रिनामन का कहना है किगैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट से मिलने वाले संदेश हमें गलतियां करने से रोकते हैं। यह मस्तिष्क के उपहार वाले तंत्र को काट देते हैं और व्यक्ति को खतरे से बचाते हैं। गैस्ट्रोइनटेस्टाइनल ट्रैक्ट हमारे शरीर की सतह की त्वचा से 100 गुना बड़ी है। यह मस्तिष्क को शरीर के किसी और अंग के मुकाबले अधिक और तेजी से संदेश भेजती है। पेट और मस्तिष्क के बीच के इस विचित्र संबंध को अभी तक तकनीकी तौर पर समझा ही नहीं गया है। शरीर के इन दो बेहद महत्वपूर्ण अंगों के बीच वेगस नस के जरिये संपर्क होता है। यह शरीर से मस्तिष्क को और मस्तिष्क से शरीर को ऐसे संदेश पहुंचाती है, जिन्हें गट फीलिंग कहा जाता है। हालांकि विशेषज्ञ अभी यह नहीं बता पाए हैं यह आभास व्यक्ति के फैसलों को कैसे प्रभावित करते हैं।

Have something to say? Post your comment
और फीचर्स न्यूज़
ताजा न्यूज़
कुंभ में बन रहा विशेष योग विराट ने धोनी की जमकर तारीफ की वोडाफोन आइडिया एंप्लॉयीज को जून में देगी नए साल का तोहफा रणबीर कपूर की संजू ने पद्मावत, 2.0 को पीछे छोड़ा मोदी के नेतृत्व में भारत तेजी से वृद्धि कर रही अर्थव्यवस्था बन गया - जेटली सेहत का खजाना है मूंगफली, कई बीमारियों से करती है बचाव दक्षिण अफ्रीका ने तीसरे टेस्ट में पाक को हराकर सीरीज 3-0 से जीती सवर्णों को आरक्षण गरीबों के उत्थान के लिए क्रांतिकारी कदम : जावड़ेकर कंगना ने खुलकर बताया कि किस बात का है उन्हें दर्द 80 फीसदी कम हुईं आतंकी और नक्सली घटनाएं : राजनाथ अखिलेश और मायावती से मुलाकात के बाद तेजस्वी यादव ने कहा - यूपी और बिहार तय करेंगे केंद्र की सत्ता 40 लाख तक टर्नओवर वाले नहीं होंगे जीएसटी में शामिल
Copyright © 2016 adhuniktimes.com All rights reserved. Terms & Conditions Privacy Policy